विशेषता : ठहरने की उत्तम व्यवस्था

महाकाल

पित्र दोष निवारण पूजा

किसी कुंडली में उपस्थित भिन्न भिन्न प्रकार के दोषों के निवारण के लिए की जाने वाली पूजाओं को लेकर बहुत सी भ्रांतियां तथा अनिश्चितताएं बनीं हुईं हैं तथा एक आम जातक के लिए यह निर्णय लेना बहुत कठिन हो जाता है कि किसी दोष विशेष के लिए की जाने वाली पूजा की विधि क्या होनी चाहिए। पित्र दोष के निवारण के लिए की जाने वाली पूजा को लेकर भी विभिन्न ज्योतिषियों के मत भिन्न भिन्न होने के कारण बहुत अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है जिसके कारण आम जातक को बहुत दुविधा का सामना करना पड़ता है। कुछ ज्योतिषियों का यह मानना है कि पित्र दोष के निवारण के लिए की जाने वाली पूजा के लिए नासिक स्थित भगवान शिव का त्रंयबकेश्वर नामक मंदिर उत्तम स्थान है, जबकि कुछ ज्योतिषी यह मानते हैं कि पितृ दोष के निवारण के लिए की जाने वाली पूजा के लिए उज्जैन सबसे उत्तम स्थान है तथा इसी प्रकार विभिन्न ज्योतिषी हरिद्वार, गया जी, श्री बद्रीनाथ धाम तथा अन्य भिन्न भिन्न प्रकार के स्थानों को इस पूजा के लिए उत्तम मानते हैं। आज के इस लेख में हम पित्र दोष के निवारण के लिए इन धार्मिक स्थानों पर की जाने वाली पूजा के महत्व के बारे में चर्चा करेंगे परन्तु इससे पूर्व आइए यह देख लें कि पितृ दोष के निवारण के लिए की जाने वाली पूजा वास्तव में है क्या।

पंडित राजेंद्र डब्बावाला

श्रीमती माधुरी डब्बावाला